‘गोरा katora’ नहीं हुजूर, लोग कहते हैं ‘घोड़ा कटोरा’

Share Button

राजनामा.कॉम। कभी-कभी अधिकारिक तौर की जानकारी भ्रम पैदा कर देती है। बात जब सीएम के वयान के साथ जुड़ा हो और उसे जिला प्रशासन की अधिकारिक माइक्रों ब्लॉगिंग शोसल साइट पर डाल दी जाए तो किसी का भी ज्ञान चौंक उठता है।

District Administration, Nalanda फेसबुक पेज पर कुछ घंटे पहले बिहार के सीएम नीतीश कुमार के उद्गार उन्हीं के हवाले से पोस्ट किए गए हैं। उसमें “गोरा katora” झील बताया गया है।

दरअसल यह स्थान घोड़ा कटोरा के नाम से प्रसिद्ध है। अगर गुगल हिन्दी ड्रांसक्रिप्ट राइटिंग का भी प्रयोग किया गया जाए तो घोरा होनी चाहिए। हालांकि गुलग शब्द कोष घोरा को घोड़ा चूज करने का ऑप्शन देता है।

ऐसे इस प्रशासनिक पेज पर गलती पोस्ट करने वाले की स्तर से हुई है। या पोस्ट करने वाले कहीं से कॉपी-पेस्ट के शिकार हुए हैं, यह दीगर बात है।

लेकिन इतना तो तय है कि सीएम नीतीश कुमार को कभी गोरा katora कहते नहीं सुना गया है। इस पोस्ट में अन्य कई तरह की भी त्रुटियां साफ झलकती है।

District Administration, Nalanda फेसबुक पेज पर हुबहू पोस्ट निम्न रुप से प्रस्तुत किया गया है…

 ” गोरा katora झील एक ऐतिहासिक स्थान है। यह पांच पहाड़ियों से घिरा हुआ एक प्राकृतिक झील है जहाँ भगवान बुद्ध की मूर्ति स्थापित की गई है। लोग उस झील का दौरा करेंगे जहां वे भगवान बुद्ध को अपनी प्रार्थना करने का सौभाग्य भी प्राप्त कर सकते हैं.”

” एक सुंदर पार्क यहाँ विकसित किया जा रहा है (गोरा katora) पर्यटन दृष्टिकोण से… मुझे काफी विश्वास है कि गोरा katora इको-टूरिज्म के लिए एक महत्वपूर्ण स्थान के रूप में निकलेगा… कोई पेट्रोल और डीजल वाहनों को चलने की अनुमति नहीं होगी यहाँ केवल इलेक्ट्रॉनिक वाहन ही यहाँ (.”

–     Hon’ble CM Nitish Kumar

नीचे देखिए पोस्ट के साथ अटैच्ड सीएम साहब का फोटो, जिसे देख लगता है कि वे नीजि ईच्छा अनुरुप खिंचवाई है……

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...