गुमला में माफियाओं को मिला सोने का खजाना!

Share Button

गुमला के रायडीह थाना अंतर्गत अरण्डा गाव में सोने का खजाना मिलने की बात सामने आई है। खजाना मिलना कोई नई बात नही देश के अलग अलग हिसों में गाहे बेगाहे खजाना मिलाने की बात सामने आती रहती है।

 goldप्रत्यक्ष दर्शी सूत्रों के अनुसार गुमला जिला के रायडीह के समीप पुराने जमाने के सोने चाँदी के सिक्के एवं जेवरात मिलने की बात सामने आई है।

बताया जा रहा है कि 15 वीं- १६ वीं शताब्दी के सिक्के हजारों की संख्या में मिलें है। आस पास के छेत्रों में यह चर्चा का विषय बना हुआ है।

आश्चर्य की बात यह है कि पुरातत्व विभाग के सर्वे में अथवा किसी ओझा गुणी नें नहीं बल्कि ये भूमिगत सोने से भरा पांच गगरा (पीतल का घड़ा ) माफिया लोगों द्वारा की गई खुदाई में निकला है।

खुदाई का काम माफिया किस्म के लोगों द्वारा स्थानीय लोगो के सहयोग से रातो -रात किया गया तथा खुदाई में निकले सारा खजाना लेकर चम्पत हो गये। इन सब के वावजूद स्थानीय पुलिस प्रसाशन एवं पुरातत्व विभाग को भनक तक नही लगी।

जानकार सूत्रों के अनुसार मांझा टोली के समीप अरण्डा गाव में जमीनदारों का गढ़ था, जिसका बर्तमान में जीर्ण-शीर्ण अवशेष बचा हुआ है।

प्राप्त सुचना के अनुसार इन जमींदारों के वंशज गाव छोड़ कर शहर में रहकर किसी तरह जीविका चला रहे है।  इनको अपने पूर्वजों के इस भूमिगत खजाना की जानकारी नहीं थी बरना आज वे मालामाल होते।

शायद किस्मत को कुछ ओर मंजूर था। खजाना इनके किस्मत में नही था, सारे सोने से भरे पांच गगरे इनके गढ़ के अवशेष में एक पंक्ति में पांच फिट जमीन के अंदर दबा पड़ा था। ……. गुमला प्रहरी

Share Button

Relate Newss:

राजगीर में अराजकता, पार्श्व नाथ की मूर्ति तोड़ा
भारतीय मंदिर, जो कभी दिखता है तो कभी गायब हो जाता है
बिहार के गया में हुई पत्रकार की हत्या को लेकर शेखपुरा में विरोध मार्च
पल्सर पल्सर पल्सर और पल्सर...
जिओ टीवी के ‘खेल’ के सामने फेल रहे भारतीय सेल्फी रिपोर्टर्स
मलमास मेला नामक ‘मोबाईल एप्प’ से यूं प्रमोट हो रहे भू-माफिया अतिक्रमणकारी
21 दिन बाद भी सुपरविजन नहीं, बीडीओ पर मेहबान है रांची पुलिस !
धनबाद प्रेस क्लब का निर्णय-300 रुपये दें और सदस्य बनें
चोर-पुलिस के आतंक से त्रस्त हैं नालंदा के चंडी का रामघाट बाजार
जमानत भी नहीं बचा सके सुदेश-अमिताभ-बंधु !
डुमरी कस्तूरबा आवासीय विद्यालय की एक छात्रा पर फेंका तेज़ाब, हालत गंभीर
जांच कमिटि की रिपोर्ट में खुलासा, पूर्व प्रबंधक की सांठगांठ से हुआ लाखों का खेला
कमीशन के खेल में फंसी रांची की मेयर आशा लकड़ा
देवी की दिव्य माहवारी, हमारे लिए बीमारी !
पत्रकारों ने मांगी छुट्टी तो हिन्दुस्तान के संपादक दिनेश मिश्रा ने दी गालियां !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...