गिरियक के पत्रकार निसार अहमद के घर बम फेंका, सूचना के 12 घंटे बाद भी नहीं पहुंची थाना पुलिस

Share Button

गिरियक,नालंदा (INR)। कल देर शाम असमाजिक तत्व ने स्थानीय पत्रकार निसार अहमद के घर पर दहशत फैलाने को लेकर बम फेंका। यह घटना करीब साढ़े आठ बजे की है।

घटना के बारे में बताया जाता है कि पत्रकार निसार अहमद  अपने घर पर बाथ रूम में  स्नान घर में नहा रहे थे कि अचानक उन्हें बम की जोरदार आवाज सुनाई दी। उन्होंने जब बाथरुम से बाहर निकल कर देखा तो उनके घर में सिर्फ धुआं ही धुआं था। इस कारण वे किसी भी अपराधी को देख नहीं पाये।

उनके पड़ोसियों के अनुसार बम की जोरदार आवाज से वे भी सकते में आ गये। इस घटना की सूचना तत्काल पावापुरी थाना प्रभारी को दी गई लेकिन, पहुंचने का आश्वासन हीं सिर्फ दिया लेकिन, घटना के 12 घंटे बीत जाने के बाद भी समाचार प्रेषण तक पुलिस-प्रशासन से कोई कर्मी स्थिति का जायजा लेने या मामले की पड़ताल करते दोषी असमाजिक तत्वों की पहचान कर कार्रवाई करने नहीं पहुंच सका है।

पत्रकार निसार अहमद से बातचीत करने से पता चला कि उनके घर पर पहले भी हमले हो चुके हैं। इसमें उनके अपने ही समुदाय के असमाजिक तत्व संलिप्त प्रतीत होते हैं क्योंकि उनके समुदाय में अगड़ा-पिछड़ा के भेद उत्पन्न है और वे पिछड़े समुदाय से आते हैं। पूर्व में भी उन्हे भयभीत करने के प्रयास किये जाते रहे हैं।

Share Button

Relate Newss:

एक साल में चार वर्षों की दिशा तय की :रघुवर दास
'लिव इन रिलेशन' रेप के दायरे से बाहर नहीं :हाई कोर्ट
राजस्थान के IPS अफसर से ठगी कर भागे 4 साइबर अपराधी राजगीर में धराये
कलेक्ट्रिएट में चल रहा एनजीओ परिहार- ‘इट्स हेपेन्ड ओनली इन बिहार’
दैनिक हिंदुस्तान के जिलावार अवैध संस्करणों में सरकारी विज्ञापन पर रोक
हाफ टाईम ओवरः नितीश के सामने कहां खड़े हैं मोदी
दैनिक हिन्दुस्तान में एसपी-डीएसपी के तबादले की 'फेक खबर' से नालंदा में सनसनी
चाय नहीं, खून के सौदागर हैं मोदी : लालू यादव
Delhi journo to become first to be arrested for Twitter trolling
झारखंड में एसएआर कोर्ट खत्म करने की तैयारी
एग्जिट पोल मामले में जागरण.कॉम के संपादक शेखर त्रिपाठी गिरफ्तार
सदस्यता के नाम पर लाखों वसूल रहा इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन
ड्रग माफिया के खिलाफ आवाज उठाई तो हाथ-पैर काट डाले !
दैनिक ‘तरुणमित्र’ मचा रहा बिहार में तहलका !
कानपुर में पत्रकारों का सपा-भाजपा के खिलाफ हल्ला बोल

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...