गलत साबित हो चुके हैं ऐसे ‘पेड एग्जिट पोल’ के नतीजे

Share Button
Read Time:6 Minute, 29 Second

नई दिल्ली (विशेष संवाददाता) उत्तर प्रदेश, पंजाब, गोवा, मणिपुर और उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव खत्म हो चुके हैं, 11 मार्च को नतीजे घोषित किए जाएंगे। लेकिन एग्जिट पोल के आंकड़े 9 मार्च को ही सामने आ गये हैं। यूपी के ज्यादातर एग्जिट पोल में भारतीय जनता पार्टी को सबसे ज्यादा सीटें दी गई हैं, वहीं सपा-कांग्रेस को गठबंधन को दूसरे नंबर पर दिखाया गया है। पंजाब के एग्जिट पोल के मुताबिक कांग्रेस और आम आदमी पार्टी में कड़ी टक्कर हो सकती है। लेकिन पिछले एग्जिट पोल के आंकड़े देखे जाएं तो वे बहुत ही कम सही साबित हुए हैं। साल 2012 में यूपी और पंजाब के एग्जिट पोल के आंकड़े भी सही साबित नहीं हुए थे।

उत्तर प्रदेश के साल 2012 के एग्जिट पोल के आंकड़ों में यह जरूर दिखाया गया था कि समाजवादी पार्टी नंबर एक पर रहेगी, लेकिन सीटों की संख्या को लेकर आंकलन सही साबित नहीं हुआ था। इंडिया टीवी-सी वोटर्स के एग्जिट पोल में कहा गया था कि समाजवादी पार्टी को 137 से 145 सीटें मिल सकती हैं, वहीं सीएनएन-आईबीएन और द वीक के सर्वे में सपा को 232 से 250 सीटें दी गई थीं। लेकिन समाजवादी पार्टी ने 403 में से 224 सीटों के साथ बहुमत हासिल किया था। अन्य पार्टियों के आंकड़े भी सही नहीं रहे। 80 सीट पाने वाली बहुजन समाज पार्टी को अलग-अलग पोल में दिखाया गया था कि वह 65 से 130 सीटें हासिल कर सकती है।

पंजाब की बात करें तो किसी भी एग्जिट पोल ने यह पूर्वानुमान नहीं लगाया था कि शिरोमणि अकाली दल-भारतीय जनता पार्टी गठबंधन की सरकार वापस लौटेगी। सीएनएन-आईबीएन के एग्जिट पोल में बताया गया था कि 117 सीटों में से कांग्रेस को 60 सीटें मिल सकती हैं, वहीं इंडिया टीवी-सी वोटर्स के सर्वे में बताया गया था कि कांग्रेस को 65 सीटे मिल सकती हैं। लेकिन कांग्रेस दूसरी बार भी चुनाव हार गई। कांग्रेस को केवल 46 सीटें मिली और अकाली-भाजपा गठबंधन को 68 सीटें मिली थीं।

साल 2012 में उत्तराखंड के एग्जिट पोल में दिखाया गया था कांग्रेस और भाजपा में कड़ी टक्कर होगी। कांग्रेस को 32 तो भाजपा को 31 सीटें मिली थीं। लेकिन कुछ एग्जिट पोल में दिखाया गया था कि भारतीय जनता पार्टी की सरकार राज्य में वापस लौटेगी। गोवा के एग्जिट पोल में भाजपा को 20 सीटें दी जा रही थी, जिसे 24 सीटें मिली। वहीं कांग्रेस को लेकर अंदाजा लगाया गया था कि उसे 15 से 19 सीटें मिल सकती हैं, लेकिन उसे केवल 9 सीटें ही मिली। मणिपुर को लेकर सभी पोल में पूर्वानुमान लगाया गया था कि कांग्रेस वापस आएगी, लेकिन सभी के आंकड़े गलत साबित हुए। न्यूज24 – टुडे चाणक्य ने कांग्रेस को 25 सींटे दी थी, जबकि सीएनएन-आईबीएन-द वीक ने 24 से 32 सीटें दी थी, लेकिन कांग्रेस को 60 में से 42 सीटें मिली थीं।

ये कहते है 2017 के एग्जिट पोल के आंकड़े

उत्तर प्रदेश (कुल 403 सीटें)

चाणक्य-न्यूज 24- सपा-कांग्रेस (88-+/-15), भाजपा (285- +/-18), बसपा (27) (+/-12) अन्य (3+/-2)

एक्सिस-इंडिया टुडे- सपा-कांग्रेस (88-112), भाजपा (251-279), बसपा (28-42), अन्य (4-11)

सीवोटर-इंडिया टीवी- सपा-कांग्रेस (135-147), भाजपा (155-167), बसपा (81-93), अन्य (8-20)

एमआरसी-इंडिया न्यूज- सपा-कांग्रेस (120) भाजपा (185), बसपा (90) अन्य (8)

वीएमआर-टाइम्स नाउ- सपा-कांग्रेस (110-130) भाजपा (190-210), बसपा (57-74) अन्य (8)

सीएसडीएस-एबीपी न्यूज- सपा-कांग्रेस (156-169) भाजपा (164-176) बसपा (60-72) अन्‍य (2-6)

पंजाब (117 सीटें)

एक्सिस-इंडिया टुडे- अकाली-भाजपा (4-7) कांग्रेस (62-71) आम आदमी पार्टी (42-51) अन्य (0-2)

चाणक्य-न्यूज 24- अकाली-भाजपा (9-15) कांग्रेस (54+) आम आदमी पार्टी (54+) अन्य (0)

सीवोटर-इंडिया टीवी- अकाली-भाजपा (5-13) कांग्रेस (41-49) आम आदमी पार्टी (59-67) अन्य (3)

उत्तराखंड- (70 सीटें)

एक्सिस-इंडिया टुडे- कांग्रेस (12-21) भाजपा (46-53) बसपा (1-2) अन्य (0)

चाणक्य-न्यूज 24- कांग्रेस (15+) भाजपा (53) अन्य (0)

सीएसडीएस-एबीपी न्यूज- कांग्रेस (23-39), भाजपा (34-42), अन्य (0)

मणिपुर (60 सीटें)

एक्सिस-इंडिया टुडे- कांग्रेस (30-36) भाजपा (16-22 ) अन्य (6-11)

सीवोटर-इंडिया टीवी- कांग्रेस (17-23), भाजपा (25-31), अन्य (9-15)

चाणक्य-न्यूज 24  कांग्रेस (21), भाजपा (28), अन्य (11)

गोवा (40 सीटें)

सीवोटर-इंडिया टीवीः  कांग्रेस (10), भाजपा (15), आम आदमी पार्टी (7), अन्य (8)

एक्सिस-इंडिया टुडेः कांग्रेस (9-13), भाजपा (18-22), आम आदमी पार्टी (0-2), शिव सेना- महाराष्ट्र गोमांतक पार्टी (3-6), अन्य (4-9)

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

टोल गेट पुंदाग (ओरमांझी) का तमाशा: सरकारी निर्धारण प्रति किमी और ठेकेदार वसुल रहा है एकमुश्त
सामंतवादी दबंगों का अमानवीय कहर
पत्रकारिता दिवस पर विशेष: मीडिया तेरे कितने प्रकार?
मैला साफ करने को मजबूर है एएनएम
'महापाप की कवरेज' पर बोले मी लार्डः ‘मीडिया की आजादी के खिलाफ नही हैं हम’
पत्रकारिता-समाज सेवा सीखनी हो तो मुजफ्फरपुर में आनंद दत्ता से सीखिए !
'बिहार रथ' निकालने की तैयारी में हैं 'बिहारी बाबू' !
रांची के दैनिक जागरण की आत्मा यूं मर गई इस वरिष्ठ पत्रकार पर FIR को लेकर
जब लाइव डिबेट में अर्णब के सामने आशुतोष हुए शर्मसार !
चुनाव जीतने के बाद लालटेन लेकर सबसे पहले बनारस जाएंगे लालू
खोखला है मोदी का 56 ईंच का सीनाः सोनिया
दैनिक ‘तरुणमित्र’ मचा रहा बिहार में तहलका !
भुमिहारों को बेवकूफ़ बना रही है भाजपा
न लहर....न पहर....सब बेअसर की संभावना
चोर-पुलिस के आतंक से त्रस्त हैं नालंदा के चंडी का रामघाट बाजार
मोदी जी, स्मृति जी से रिक्वेस्ट कर दुष्ट तुलसीदास को सिलेबस से हटाएँ
श्रीराम पर केस के बाद अब उनके भक्त हनुमान को भेजा नोटिस
झारखण्ड जनसम्पर्क निदेशालय में पहली बार यौन उत्पीड़न आंतरिक शिकायत समिति का गठन
नहीं रहीं वरिष्ठ पत्रकार रजत गुप्ता की अर्द्धांग्नि रविन्द्र कौर
आजादी के हनन  को लेकर  नॉर्थ ईस्‍ट इंडिया के 6 प्रमुख अखबारों  के एडिटोरियल स्‍पेस ब्लैंक्स
खत्म होगा अपने देश से भ्रष्टाचार ?
ममता बनर्जी संग लंदन गये भारतीय पत्रकारों ने चुराई चांदी के चम्मच, 50 पौंड जुर्माना दे छूटे
कहीं दूसरा 'हूल’ न बन जाये पत्थलगड़ी ?
आखिर पत्रकार वीरेन्द्र मंडल के पिछे हाथ धोकर क्यों पड़ी है सरायकेला पुलिस
रामलीला मैदान में शपथ लेंगे केजरीवाल !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...