गजब ! ओरमांझी जन सूचना अधिकारी ने मांगे 25 रुपये प्रति पेज सूचना

Share Button

rti kgbvबिहार की तरह झारखंड में में भी सूचना अधिकार अधिनियम-2005 का खुला मजाक उड़ाने वाली एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है। यह मामला राजधानी रांची जिले के ओरमांझी कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय से जुड़ा है।

ओरमांझी प्रखंड विकास पदाधिकारी  के कार्यालय पत्रांकः243(ii), दिनांकः 23.03.2016 द्वारा जो सूचना उपलब्ध कराई गई है, उससे कई रोचक तत्थ उभरकर सामने आए हैं।

ओरमांझी प्रखंड शिक्षा प्रसार पदाधिकारी माला कुमारी सिन्हा ने कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय के वार्डन अनीता तोपनो के हस्ताक्षर से सूचना के स्थान पर एक पत्र प्रेषित किया गया है

प्रेषित पत्र में उल्लेख है कि सूचना अधिकार अधिनियम-2005 तथा प्रखंड विकास पदाधिकारी के ज्ञापांक-246(ii), दिनांकः 0303.2016 के तहत मांगी गई जानकारी के अंतर्गत पेपर टकंण एवं प्रिंटिंग्स में व्यय होने की संभावना है। इसलिए कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय ओरमांझी के नाम से डीडी बनाकर जमा करने की कृपा करें  ताकि, सूचना उपलब्ध कराई जा सके।

 उपलब्ध पत्र के अनुसार कुल सूचना पेज-451, प्रति टंकण पेज-25 रुपये तथा कुल राशि 451×25= 11,275.00 रुपये की मांग की गई है।

vishnu
वरिष्ठ सूचना अधिकार विशेषज्ञ एवं संपादक-पत्रकार विष्णु राजगढ़िया

इस प्रसंग में एक सबाल के जबाब में वरिष्ठ सूचना अधिकार विशेषज्ञ एवं संपादक-पत्रकार विष्णु राजगढ़िया कहते हैं,  “इस तरह कोई मूर्ख ही कर सकता है। केन्द्र व राज्य सरकार द्वारा सूचना अधिकार अधिनियम-2005  प्रावधानों के तहत किसी भी हालत में कोई जन सूचना अधिकारी आवेदक से प्रति पेज 2 रुपये से अधिक की मांग नहीं कर सकते। अगर कोई ऐसा करता है तो आवेदक को तुरंत राज्य सूचना आयोग में जाकर शिकायत दर्ज करनी चाहिए ताकि, एक आम नागरिक के इस तरह के मौलिक अधिकारों का हनन करने वालों को कड़े दंड मिल सके। ”

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...