खुलासे के साथ भूमिगत हुआ ‘केसरी गैंग’ का रिंग मास्टर

Share Button

वैसे मीडिया सूत्र के अनुसार वह कोई गहरी साजिश रच रहा है। खैर अब गैंग का शातिर सरगना ऐसा कोई भी हरकत नहीं कर सकेगा। हम उन तमाम ग्रामीणों, राजनेताओं एवं पत्रकारों को इस बात की गारंटी देता है कि वह पूरे निष्ठा पूर्वक अपने क्षेत्र में अपने कार्य को संपादित करें और ऐसे पत्रकारों के लिए हमने पूरी टीम बना रखी है, जो उनकी हर गतिविधियों की हर पल की जानकारी हमें उपलब्ध करा रहे हैं…”

चाईबासा (राजनामा.कॉम)। कोल्हान परिक्षेत्र में पत्रकारों का एक गैंग काम कर रहा है, जो ‘केसरी गैंग’ के रूप में इन दिनों काफी चर्चित हो रहा है। इस गैंग का काम केवल ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों के साथ आंचलिक पत्रकारों को झूठे मामलों में फंसना है।

वैसे इस गैंग द्वारा पूरे प्रकरण का पहले से ब्लू प्रिंट तैयार किया जाता है, जिसमें थाना और जनप्रतिनिधियों के साथ मिलकर ग्रामीण क्षेत्रों में भयादोहन करने एवं धन उगाही किया जाता है।

वैसे इसकी भनक लगते ही हमने मामले की पड़ताल की और सच्चाई लोगों के सामने लाने का काम किया। इस खबर की सनसनी फैलते ही सरगना भूमिगत बताया जाता है।

हालांकि सूत्र बताते हैं कि इस खुलासे के बाद जमशेदपुर एवं सरायकेला शहरी क्षेत्र के पत्रकारों ने गैंग के सरगना की जमकर क्लास लगाई है, जिससे वह डरकर कुछ दिनों के लिए अपनी गतिविधियों पर विराम लगाया है।

हम कोल्हान परिक्षेत्र के तमाम अधिकारियों, राजनेताओं एवं जनप्रतिनिधियों के साथ- साथ स्वच्छ और साफ- सुथरी पत्रकारिता करने वाले पत्रकारों के साथ खड़े मिलेंगे। जहां भी हमें गलत लगेगा, हम पूरी सच्चाई जनता के बीच लाने का काम करेंगे। चाहे वह कितना भी प्रभावशाली व्यक्ति क्यों ना हो। हम सच तो दिखा कर रहेंगे।

वैसे हमें चांडिल, चौका, नीमडीह परिक्षेत्र में भी कुछ गड़बड़ी की सूचनाएं मिल रही है। एक दो पत्रकार उस क्षेत्र में भी गड़बड़ कर रहे हैं। हमारे पास जो रिपोर्ट आ रहे हैं, अगर वो सही है तो तय माने, जिस दिन उसकी सच्चाई प्रमाणिकता के साथ आ गई, उन्हें भी बेनकाब करने में हम पीछे नहीं हटेंगे।

 हम आप सभी पाठकों को भरोसा दिलाते हैं, बहुत जल्द कोल्हन क्षेत्र में आपको शुद्ध पत्रकारिता का वही पुराना दौर देखने को मिलेगा, जैसा पहले रहा है।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...