क्या फर्जी है बिहार विधान सभा की प्रेस सलाहकार समिति!

Share Button

 Press_socialबिहार विधान सभा की प्रेस सलाहकार समिति के औचित्य को लेकर आज विधान मंडल के गलियारे में चर्चा तेज रही। इसकी वैधता को लेकर भी सवाल उठा।

क्योंकि सलाहकार समिति के गठन के पूर्व विधान सभा सचिवालय ने किसी भी अखबार या समाचार संस्था‍न से समिति के लिए प्रतिनिधि के नाम की मांग नहीं की थी। अपनी मनमर्जी से नामों का एलान कर दिया। जो विहित प्रक्रिया का उल्लंघन है।

यही कारण है कि संस्थान छोड़ चुके या सेवानिवृत्त हो चुके पत्रकारों का भी पूर्व संस्थानों के साथ नाम अंकित है।

प्रेस सलाहकार समिति के सामाजिक स्वरूप को लेकर समिति गठन की अधिसूचना जारी होने के तुरंत बाद पत्रकारों ने राजद प्रमुख लालू यादव से मुलाकात की थी।

इस संबंध में राजद प्रमुख ने पत्रकारों की शिकायतों से स्पीकर विजय कुमार चौधरी को अवगत कराया था। उस समय श्री चौधरी दिल्ली में थे।

उन्होंने फोन पर ही श्री यादव को भरोसा दिलाया था कि बजट सत्र के पूर्व समिति का पुनर्गठन किया जाएगा और प्रेस सलाहकार समिति में पत्रकारों के सामाजिक भागीदारी को सम्मान दिया जाएगा। लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

वास्तविकता यह है कि स्पीकर विजय कुमार चौधरी ने पिछले वर्ष की प्रेस सलाहकार समिति को ही पिछले दिसंबर माह में पुनर्जीवित कर दिया। जबकि बजट सत्र के पूर्व प्रेस सलाहकार समिति का गठन किया जाता है।

उधर वर्तमान प्रेस सलाहकार समिति के खिलाफ पत्रकारों का एक समूह आवाज बुलंद करने लगा है और प्रेस सलाहकार समिति को भंग कर नयी प्रेस सलाहकार समिति के गठन की मांग करने लगा है।

इतना ही नहीं, नाराज गुट वर्तमान प्रेस सलाहकार समिति की अनुशंसा पर विधान सभा सत्र के कवरेज के लिए निर्गत प्रवेश पत्र को रद करने की मांग की है।

……… अपने फेसबुक वाल पर वरिष्ठ पत्रकार वीरेंद्र यादव

Share Button

Relate Newss:

बिहार विधानसभा चुनाव की मंझधार में जी पुरवईया !
'11 जुलाई तक राजगीर मलमास मेला सैरात भूमि से हटायें अतिक्रमण'
बढ़ी एफडीआई से प्रिंट मालिक मायूस, वहीं न्‍यूज ब्रॉडकास्‍टर्स गदगद
सृजन महाघोटालाः सीबीआई की रडार पर नेताओं,अफसरों के साथ पत्रकार भी
पुरातत्व विभाग उदासीनता से मायूस हैं चंडी के लोग
रांची कॉलेज को डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी यूनिवर्सिटी बनाने गवर्नर की सहमति
एक जौहरी करता था न्यूज़11 में एक ज्योतिष पेड प्रोग्राम का पेमेंट
औरत: हर रूप में महान......!
" झारखण्डी नृत्य की विविधता , उराँव जनजाति की महत्ता के साथ "
खरसांवा की उपेक्षा और पत्नी की कमाई बनी अर्जुन मुंडा की हार का कारण
इस छात्रा के सबाल से भावुक हुईं झारखंड के महामहिम
तेजस्वी यादव ने फेसबुक पर लिखा- बिहार में है थू-शासन
पत्रकार प्रताड़ना को लेकर यूं मुखर हुए पूर्व विधायक अनंत राम टुडू
बिहार चुनाव के एग्जिट पोल के नतीजे गलत साबित होने पर NDTV के चेयरमैन ने मांगी माफी
लालू प्रसाद के फर्जी ट्वीटर एकाउंट से जातीय उन्माद फैलाने की कोशिश

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...