कोर्ट के सामने बीच सड़क पर पुलिस ने कैदी को जमकर पीटा

Share Button

दरभंगा(अभिषेक कुमार)। न्यायालय को न्याय का मंदिर कहा जाता है और किसी अभियुक्त को सजा देने का अधिकार न्यायालय को होता है। पर आज न्यायालय गेट के सामने पुलिस वाले बीच चौराहे पर खुद एक अभियुक्त को सज़ा देते नज़र आए।

dabhanga court1दिन के करीब ढाई बजे कमतौल थाना की पुलिस एक कैदी को कोर्ट लेकर आई। कोर्ट का गेट बंद था। पुलिस उसे खुलवाने की प्रक्रिया में लगी थी कि तभी मौका देख कर कैदी लहेरियासराय बस स्टेंड की तरफ भागा।

पुलिस तुरन्त उसके पीछे भागी और खदेड़ कर पकड़ लिया। उसे पकड़ कर लात जूतों से उसकी पिटाई शुरू कर दी फिर पुलिस जीप के पास लायी। पुलिस जीप में बैठते ही जीप के ड्राइवर ने लाठी से जमकर प्रहार किया अभियुक्त पर।

अभियुक्त के नाक मुँह से खून निकल रहा था और पिटाई से बेहोश हो चूका था। फिर भी जीप में बैठाने के बाद भी पुलिस वाले उस पर अपना बल दिखाते रहे। लोगो की भीड़ जमा होते देख ड्राइवर जीप स्टार्ट कर तत्काल आगे बढ गया।

Share Button

Relate Newss:

18 मार्च से फिर शुरू होगा जाटों का ‘हरियाणा जलाओ, आरक्षण पाओ अभियान’ !
राजस्थान के IPS अफसर से ठगी कर भागे 4 साइबर अपराधी राजगीर में धराये
मोदी के सद्भावना मिशन व्रत पर खर्च हुए थे 20 करोड़
एएनएम की लापरवाही से गई बच्ची की जान, विधायक ने दिया जाँच का आदेश
हाय री नालंदा की मीडिया, भ्रष्ट्राचार के विस्फोटक न्यूज को यूं पचा गये!
नहीं रही दूरदर्शन की वरिष्ठ एंकर नीलम शर्मा, मिली थी नारी शक्ति सम्मान
गरीब बिहार की अमीर सरकारः 5 वर्ष में मीडिया पर लुटाए 500 करोड़ !
कर्नाटक के सीएम ने कहा, मैं अब से खाऊंगा बीफ़
'अन्ना आंदोलन' में शामिल होगें मनीष-केजरीवाल
मीडिया ने बबूल को बरगद बना दिया
बीफ का बिजनेस करने वाले 95% हिन्दू, विधायक और सांसद चलाते हैं बीफ कंपनियां
स्वंय प्रकाश सरीखे चरणपोछु संपादक हो सकते हैं, पत्रकार नहीं
बिहार के नवादा में पत्रकार के भाई की पीट-पीटकर निर्मम हत्या
पत्रकारिता दिवस पर विशेष: मीडिया तेरे कितने प्रकार?
भारत से 5 हजार करोड़ लेकर फरार नाईजीरिया में देखिये कैसे ऐश कर रहा नीतीन फेदशरा

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...