कल वो चकला-बेलन भी ले गये तो ?

Share Button
Read Time:2 Minute, 47 Second

अलसुबह पार्क जाने के लिए बाहर निकला, तो हैरान रह गया । मेरे घर की खिड़की, दरवाजे यहां तक कि गाड़ी पर भी कोई झाड़ू के पोस्टर लगा गया था। सामने ही झाड़ू वाली झाड़ू लगाती हुई बड़-बड़ किए जा रही थी। मैंने पूछा, क्या हुआ, तो वह बोली, का बताएं जी, औ ससुर का नाती हमार झाड़ू पर हाथ साफ कर गया। ऐकै ही झाड़ू खरीदे रहे, ओकू भी कल आम आदमी पार्टी मा लेकर झण्डा फहराए रहे। आए तो झाड़ू सै मार-मार के ऊ का समझाई दें।

हां, सही तो कह रही है झाड़ू वाली कि झाड़ू ही लेकर चला गया उसका मर्द नारे लगाने, अब करे तो वह क्या करे? घर से निकलते समय झाड़ू वाली झाड़ू लगाती नजर आया करती थी, लेकिन आज तो सारे रास्ते भर झाड़ू के पोस्टर ही पोस्टर नजर आए।

वो झाड़ू, जो गृहणी के हाथ में होती थी। जिस झाड़ू को महिलाएं बदमाशों को मार-मार कर सुधारने के लिए प्रयोग में लाती थीं। आज उसी झाड़ू को सरे बाजार आसमान में चढ़ते देखा। यहां तक कि जो मौजीराम पंडित भी झाड़ू छू जाने पर दोबारा नहाकर आता था, आज वही झाड़ू उसके घर के दरवाजे पर टंगी उसे चिढ़ा रही है, कि जा नहा ले कितनी बार नहाएगा।

वाह भई वाह, आम आदमी की ये झाड़ू न जाने कितनों के माथे का तिलक बन जाएगी। पहले झाड़ू वाले को देख कर सब दूर-दूर भागा करते थे। आज आम आदमी पार्टी का हर आदमी झाड़ू उठाकर चल रहा है। खुद को आम आदमी बता रहा है। और तो और टी शर्ट कंपनियों ने झाड़ू के टैटू बना डाले हैं। यह भी हो सकता है कि किसी झाड़ू कंपनी ने सिफारिश की हो, ताकि विज्ञापन भी हो जाए, सारी झाड़ू भी बिक जाए।

ये भी तो हो सकता है कि पुरुषों ने महिलाओं को खुश करने की यह तरकीब निकाली हो। या कोई पुरुष झाड़ू खा-खाकर इतना परेशान हो गया हो कि उसने पार्टी में इसी को चुनाव चिह्न बनाने की सिफारिश की हो, वरना आम आदमी पार्टी को झाड़ू ही क्यों नजर आई, कुछ और नजर क्यों नही आया? आज झाड़ू ली है, कल चकला-बेलन, चिमटा सभी ले लिए गए तो?

Eng Prashant Kumar Singh अपने फेसबुक वाल पर

0 0
Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleppy
Sleppy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %
Share Button

Relate Newss:

'मुझे भाग्य, भगती, भगवान से सख्त नफरत है'
District Administration, Nalanda पर ऐसी सूचना-चित्र के क्या है मायने?
SSP की उपेक्षा से आहत JMM MLA अमित कुमार ने की अपनी सुरक्षा वापस !
अपने ही मुल्क में दफ्न होती ज़िंदगियां ! और कितनी शहादत ?
जरुरत है Brand Bihar को बेहद सशक्त करने की
जरा देखिये, ब्रांडिंग के नाम पर क्या कर रही है रघुवर सरकार
नीतीश ने अपने फेसबुक का कवर पेज ब्लैक किया
जी हां, वकीलों से भी रहें सावधान !
अगर आज के दौर में महाभारत होती
झारखंड सूचना एवं जनसंपर्क विभाग के निदेशक का कमाल देखिये
हरिबंश को मिली चाटुकारिता का ईनाम
पत्रकार पुत्र को शराब पिलाई गई थी या हत्यारों ने पी थी !
पीएम मोदी के 'मन की बात' : भूमि अध्यादेश अब नहीं लाएगी उनकी सरकार !
यह अपमान नहीं,देशद्रोह है 'मियां बुखारी'
ऐसा फेसबुकिया भक्त, जिसने किया मोदी की नाक में दम !
पत्रकार संतोष ने फेसबुक पर लिखा- वीरेन्द्र मंडल केस में भावनाओं पर काबू रखना थी बड़ी चुनौती
लो कर लो बात, अब अपना रघुवर दारू बेचेगा...
ऐसे लोग बनेंगे प्रेस एडवाइजर, तो रघुवर दास का बेड़ागर्क होना तय
एक यौन शोषण का सच और त्रिया-चरित्र !
रांची प्रेस क्लब चुनावः क्या आप ऐसे लोगो को वोट देंगे? जो.....
आभासी दौर और नारी अस्मिता की त्रासदी
रेंगने को मजबूर क्यों हुआ एन डी टीवी ?
महिला पत्रकार को महंगा पड़ा फेसबुक पर मदरसा में यौन शोषण का मामला उठाना
आखिर चाहता क्या है सुप्रीम कोर्ट ?
रघु'राज के सलाहकार योगेश-अजय प्रक्ररण का स्वागत होनी चाहिेये

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...