कल्याणपुर में जदयू को मिली भांपने वाली जीत

Share Button

bihar electionसमस्‍तीपुर के कल्‍याणपुर में जदयू को मिली जीत ‘स्‍ट्रेट’ है,लेकिन फासला कम हुआ है । नीतीश ‘जयगान’ कर रहे हैं,तो ‘चुनौतियों’ को भी भांप रहे होंगे । लालू-रामविलास को यह कहने का मौका नहीं मिला है कि ‘बतासा’ की तरह बंटे वोट ही हार को जिम्‍मेवार हैं । अधिकार-यात्रा के दौरान हुए हो-हंगामा और परिवर्तन यात्रा में जुट रही भीड़ को देख ‘कइयों’ ने इस उप चुनाव को ‘लिटमस टेस्‍ट’ की भांति लेना शुरु किया था । नतीजे अब इस बात के संकेत हैं कि कुलबुलाहट है भी,तो विकल्‍प अभी नहीं है ।

2010 के आम चुनाव में कल्‍याणपुर में जहां जदयू को 30197 मतों की भारी जीत मिली थी,वहीं 2013 के उप चुनाव में 16432 की जीत है । बावजूद इसके कि संपूर्ण ‘बिहार सरकार’ और जदयू के सभी ‘रामलखन’ एक पखवारे से जीत सुनिश्चित करने को कल्‍याणपुर के गांव-गांव में डेरा डाले थे । खेल कांग्रेस ने भी बहुत बिगाड़ा,आप ऐसा नहीं कह सकते । कांग्रेस को मात्र 8221 मत ही मिले । 2010 में तो 13349 मिले थे । कल्‍याणपुर में प्रभावी भाकपा (एमएल) लिबरेशन का प्रत्‍याशी भी 4352 मतों में निपट गया । कहने का आशय यह कि तीसरे-चौथे स्‍थान पर रहे उम्‍मीदवारों के मत को भी जोड़ दें,तो जीत जदयू को ही मिलती । 

हां,लालू-रामविलास के लिए संतोष की बात सिर्फ इतनी है कि उन्‍हें 2010 (31927) के मुकाबले 2013 (42893) में करीब 11 हजार अधिक वोट मिले हैं । लेकिन जदयू के चश्‍मे से देखें,तो 2010 (62124) के मुकाबले 2013 (59325) में करीब तीन हजार वोट ही कम मिले हैं । पांच हजार से अधिक वोटों के नुकसान में कांग्रेस रही है । 

सही है कि जीत को सरकार लगी थी,लेकिन कल्‍याणपुर से ‘कास्‍ट केमिस्‍ट्री’ के कई नतीजे भी संभावित थे । नतीजे मिले भी हैं । सुरक्षित सीट होने के बावजूद वोटों की संख्‍या में पहले-दूसरे पायदान पर भूमिहार और कुशवाहा वोटर थे । भूमिहार गुस्‍से में हैं,कहा जा रहा था । माफी भी मांगी जा रही थी । माफी कबूल हुई कि नहीं,नतीजे से यह भी जानना था । दिवंगत बरमेश्‍वर मुखिया के बेटे भी जदयू के खिलाफ वोट देने की गुहार लगाने गये थे । लेकिन भूमिहारों ने जदयू को झटक दिया,परिणाम इसका संकेतक नहीं है । हां,बूथवार मतों के ‘ट्रेंड’ का विश्‍लेषण कर रहे लोगों ने कहीं-कहीं देखा कि वोट लोजपा के पक्ष में चला गया । इसका मतलब यह है कि भूमिहारों के भीतर कुछ है भी,तो ठीक से वे विकल्‍प नहीं सोच पा रहे । लालू को स्‍वीकार करने को लेकर अब भी संशय है । 

कुशवाहा पालिटिक्‍स भी बिहार में कम कुलांच नहीं मार रही । उपेन्‍द्र कुशवाहा विकल्‍प देने की बात कर रहे हैं । नागमणि अपने को किसी से कम नहीं मानते । समस्‍तीपुर में आलोक मेहता की कवायद भी कम नहीं । लव-कुश समीकरण टूटने तक की बात लोग करते फिर रहे थे । उम्‍मीदवार न होने के बावजूद उपेन्‍द्र कुशवाहा ने सबों से जदयू को हराने की अपील की । लेकिन नतीजा बताता है कि कुशवाहों का वोट जदयू के खाते में ही गया । महादलित फार्मूला पहले की भांति हिट रहा । 

हार चुके लालू-रामविलास कहेंगे कि सरकार जीती है । पर जीत तो जीत होती है । भरोसा कायम करने को इन दोनों धुरंधरों को अभी बहुत कुछ करना होगा । नीतीश कुमार भी सोचें कि बड़े लाव-लश्‍कर से लड़े गये उपचुनाव में जीत का फासला कम कैसे हो गया । कहीं कुलबुलाहट है,तो क्‍यों ? वरना काल व परिस्थितियां तो विकल्‍प पैदा कर ही देते हैं ।

Share Button

Relate Newss:

फॉक्स न्यूज का दावा: भाषण के दौरान प्याज लगाकर रोए ओबामा  
पाकिस्तान में ‘टीवी टैलंट हंट शो' को लेकर बवाल, जियो टीवी को बता रहे हैं गद्दार
नवादा DPRO की दादागिरी, 'डीएम-जेबकतरा' खबर को लेकर 3 पत्रकारों पर बैन
मोदी जी की आय की खबर प्रायः अखबारों में गोल, भास्कर के शीर्षक में झोल
नाबालिग छात्रा की थाने में जबरिया शादी मामले को यूं उलटने में जुटे कतिपय लोकल रिपोर्टर
न्यूज चैनल के ऑफिस पर ग्रेनेड से हमला, एक मीडियाकर्मी समेत तीन घायल
दैनिक भास्कर है या ठग, कूपन प्रतियोगिता ईनाम के नाम पर यूं की बड़ा ठगी
कोर्ट ने फर्जी खबर छापने के मामले में दैनिक जागरण के मालिक को भेजा जेल
पत्रकार प्रशांत कनौजिया के मामले में सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार, तुरंत रिहा करे योगी सरकार
झारखंडी आदिवासी का असली दुश्मन
राजनीतिक जीवन के सबसे कठिन दौर में लालू
नहीं रहे दैनिक भास्कर के ग्रुप एडिटर कल्पेश याग्निक, हार्ट अटैक से मौत
धड़ाधड़ खुल रहे रीजनल चैनलों की कहानी, एक्सपर्ट वासिंद्र मिश्र की जुबानी
पत्रकार उत्पीड़न को लेकर ग्रामीण हुए गोलबंद, DIG से करेगें SP की कंप्लेन
गुजरात को पछाड़ आगे निकला बिहार

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...