ऑर्गनाइजर ने जम्मू-कश्मीर को किया पाक हवाले !

Share Button

भारत राष्ट्र की एकता और अखंडता के लिए पूरी दुनिया को पाठ पढ़ाने वाले राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) को उस वक्त भारी शर्मिंदगी का सामना करना पड़ा, जब इसके मुखपत्र ऑर्गनाइजर ने अपने लेटेस्ट इशू में वही गलती कर दी, जिसके लिए यह दूसरों को लताड़ता है। ऑर्गनाइजर में साउथ एशिया का मैप छपा था जिसमें जम्मू-कश्मीर का एक बड़ा हिस्सा पाकिस्तान में दिखाया गया है।

RSSयह मामला संघ के लिए कुछ ज्यादा ही शर्मनाक है क्योंकि आज तक जब भी किसी विदेशी पब्लिकेशन कंपनी ने भारत का नक्शा गलत तरीके से छापा है तो सबसे पहले इसका विरोध संघ ने ही किया है।

विदेशी पब्लिशर्स ने जब कभी इंडिया का ऐसा मैप छापा है, जिसमें कश्मीर को पाकिस्तान का हिस्सा या अक्साई चीन को चीन का हिस्सा दिखाया गया हो , तब यह सबसे ज्यादा विरोध संघ ने ही किया है।

अब जब खुद संघ के ही मुखपत्र में इस गलती को दोहाराया गया है तो जाहिर सी बात है कि यह संघ के लिए काफी शर्मिंदगी की बात है।

हालांकि, ऑर्गनाइजर को जल्द ही अपनी गलती का अहसास हो गया और ऑनलाइन एडिशन से यह मैप हटा लिया गया लेकिन, इसके 15 मार्च के प्रिंट एडिशन में यही मैप छपा है।

rss_india_mapइस मैप के प्रकाशन के बाद ऑर्गनाइजर के संपादक प्रफुल्ल केतकर ने कहा,’हालांकि यह गलती लापरवाही की वजह से हुई लेकिन इसे स्वीकार नहीं किया जा सकता। मैप का जो भी सोर्स रहा हो, ऑर्गनाइजर में इस तरह की गलती के लिए कोई जगह नहीं है।’ 

केतकर के मुताबिक, ‘मैप सार्क की एक वेबसाइट से लिया गया था। उन्होंने भरोसा दिलाया कि अगले इशू में यह गलती सुधार ली जाएगी। यह मैप ऑर्गनाइजर में छपे एक लेख ‘Reintegrating SAARC’ का हिस्सा था, जिसे एक रिसर्च असोसिएट ने लिखा था।

मैप का स्क्रीनशॉट जॉन दयाल नाम के एक राइट्स ऐक्टिविस्ट ने फेसबुक पर पोस्ट किया। दयाल ने सवाल उठाया,’ऑर्गनाइजर में यह गलत मैप किसकी अनुमति से छापा गया?’

दयाल ने कहा, ‘इससे छोटी गलतियों के लिए आरएसएस के सदस्य बहुत विरोध करते हैं। मेरे जैसे शख्स के लिए जो हर हफ्ते ऑर्गनाइजर पढ़ता है, यह किसी शॉक से कम नहीं था।

इस मैगजीन से हमें यह उम्मीद नहीं थी। अगले इशू में उन्हें इसके लिए माफी मांगनी चाहिए।’

उधर राष्ट्रभक्ति का दंभ भरने वाली आरएसएस पर हमला करने का एक सुनहरा मौका विपक्षी पार्टियों को मिल गया है।

आम आदमी पार्टी के नेता कुमार विश्वास ने ट्वीट कर पूछा है कि क्या महर्षि कश्यप की तपस्थली, भारत माता का मणिमुकुट ‘कश्मीर’ पाकिस्तान को देने का मन बना ही लिया है !

 

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.