ऐसा रोल करना चाहती हूं जो नारी को सम्मान दिलाए :रिचा सिंह

Share Button

richaरिचा पेशगत परिचय हो जाए ? ……मेरी डेट ऑफ बर्थ है 29 अगस्त।  मेरी बर्थ पैलेस कानपुर है और मेरे पिताजी पुलिस इंस्पेक्टर थे इसलिए एजुकेशन के दौरान मैं गाजियाबाद, मेरठ, नोयडा आदि स्थानों पर रही और इस प्रकार से मेरा एज्युकेशन हुआ। मैंने एमफिल किया है। मास्टर इन कम्प्यूटर एप्लिकेशन।

 कुछ फिल्मों में रिचा सिंह हो और कुछ में रिचा यादव क्या वजह है ?  …….कोई खास बात नहीं है। नाम के साथ मिडिल नेम होता है वैसा ही कुछ है, मेरे पिताजी अपना नाम आर.एन.सिंह यादव लिखते हैं। 10 क्लास में फामज़् भरते समय मैंने रिचा सिंह यादव लिखा था… यानी रिचा सिंह कहें या रिचा यादव कोई प्राब्लम नहीं है.

richa3परदे की दुनिया की शुरुआत रिचा कैसे, कब और कहां से हुई ? ……10 पास के बाद मैं नोएडा आ गई और यहां मिस नोएडा कांटेस्ट में भाग लिया और मिस नोएडा बन गई। फिर मिस ब्यूटीफुल गुडगांव का खिताब मिला…धीरे-धीरे पहचान बढऩे लगी और शूट के ऑफर आने लगे। इस दौरान मैंने कई प्रिंट और स्क्रीन एड्स शूट किए। बिहार के सुपर स्टार मनीष तिवारी के साथ कुछ एड्स किए। और अब पूरी तरह से 2 ढाई साल से बालीवुड में सक्रिय हूं। 

फिल्मों के अलावा टीवी सीरियल और थियेटर भी किए हैं ? ……..नो थियेटर नहीं, कुछ एड्स किए हैं, इसके अलावा टीवी सीरियल्स में डीडी वन पर एक सीरियल किया है। इसके अलावा महिमा शनिदेव की। अभी सहारा वन पर आ रहा जय-जय बजरंग बली में रोहिणी का किरदार किया है। रोहिणी चंद्रमा की पत्नी है। इसके अलावा गुरमीत कौर के अपोजिट पुनविज़्वाह में और जी टीवी पर इन दिनों आ रहे गौतम बुद्धा में भी हूं।

यानी काफी सीरियल्स  अब तक कर चुकी हो ? …..हां। इनके अलावा क्राइम पेट्रोल, सावधान इंडिया और कलर के कुछ प्रोग्राम कर चुकी हूं।

और फिल्मों में ?  बड़े परदे की भी कुछ फिल्में की हैं और कुछ आने वाली हैं इसके अलावा मोहन जोशी के साथ छत्तीसगढ़ की फिल्म कर चुकी हूं मोरगांव…एज्युकेशनल फिल्म में उससे समाज में क्या हो रहा है क्या तब्दील होना चाहिए बताया गया है।

richa2कैसे रोल करना पसंद है… ऐसा कोई रोल जो यादगार के रूप में स्थापित हो ? ……हां ये जरूर है। एक ऐसा रोल जो मुझे और उस रोल को यादगार बना दे। ऐसा रोल करने की मेरी तमन्ना है। आज के दौर में महिलाओं…नारी के साथ जो व्यवहार हो रहा है, मर्दों के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलने वाली नारी को आज भी प्रताडि़त किया जा रहा है, रेप, दहेज हत्या, प्रताडऩा जैसे अत्याचारों से लड़ता कोई ऐसा रोल करने की इच्छा है जो समाज को खासकर पुरुष वर्ग के सोच में बदलाव लाने…चेंजेस करने और नारी को सम्मान दिलाने में कामयाब हो। आज गंदे कमेंट्स करना…ड्रेस को लेकर कमेंट्स करना लोगों की आदत में शुमार हो गया है। किसी भी टाइप की फिल्म हो चाहे कमर्शियल आर्ट हो, कामेडी हो या अन्य कोई…ऐसा रोल करना चाहती हूं जिसमें नारी पर हो रहे अत्याचार को दिखाते हुए पुरुष वर्ग के सोच में तब्दीली ला सके।   नारी को सही मायने में इज्जत और सम्मान दिला सके। लोगों की थिंकिंग बदल सके।

richa1परदे की दुनिया का वो दौर जो अमिताभ, धर्मेन्द्र के स्ट्रगल का दौर था, जब टीवी जन्म ले रहा था…उस दौर में स्ट्रगल ज्यादा था, आज शार्टकट यानी पैसा, प्रेशर या एडजस्टमेंट का सहारा लिया जाता है, इस बारे में  क्या कहना है ?  ……पहले परदे की दुनिया में बहुत कम लोग आते थे, जो टैलेंट रखते थे। आज हर रोज लाखों की संख्या में आ जाते हैं। जहां तक शाटकर्ट का सवाल है तो मेरे साथ ऐसी कोई नौबत नहीं आई है। वैसे भी शाटकर्ट से इस तरह काम पाना मेरी नजर में ठीक नहीं है। मैं नहीं चाहती कि कल को समाज में मेरी इज्जत कम हो। 

फ्री टाइम कैसे पास होता है ?  ….वैसे तो मुझे सामाजिक मुद्दों पर लिखना पसंद है। इसके अलावा टीवी वाच करती हूं कि समाज में क्या हो रहा है। इसके अलावा ग्रुप टाकिंग, संगीत, वगैरह सुनती हूं।

किरदारों को लेकर परिवार में क्या प्रतिक्रिया होती है ? ….परिवार में मां-पापा जानते हैं कि मेरा रोल स्क्रीन पर है। हां कुछ मेम्बर जरूर बोल देते हैं कि फलां रोल कैसा रहा। वैसे निगेटिव रोल  से अपनी कमीबेशी के बारे में पता चल जाता है।

किरदार से बाहर आने यानी फ्रेश होने के लिए क्या करती हैं ? ….रोल से बाहर अपने आप आ जाती हूं। मैं एक सामान्य लड़की दिखना चाहती हूं। शूट के बाद मैं सामान्य बन जाती हूं। माडर्न दिखना या मेकअप में दिखना मुझे पसंद नहीं और मैं पहले जैसी रिचा सिंह या रिचा यादव बन जाती हूं।

 फेवरिट हीरो या एक्टर कौन है ? ….गोविन्दा। गोविन्दा को मैं इसलिए पसंद करती हूं कि उनका रोल काफी दमदार होता है। जो लोग तीन घंटे मनोरंजन के लिए…अपनी दिमागी थकन होने और इंटरटेनमेंट के लिए जाते हैं, गोविन्दा की फिल्म से फ्रेश हो जाते हैं।

   …..अनिल शर्मा

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...