एक आरटीआई एक्टिविस्ट ने हिला डाली सुशासन बाबू की चूल !

Share Button

नालंदा(जयप्रकाश नवीन)।   “एक तुम्हारा होना क्या से क्या कर देता है, बेजुबान छत -दीवारों को घर कर देता है ” माहेश्वर तिवारी की यह पंक्ति उपेन्द्र कुमार सिंह जैसे शख्स पर सटीक बैठती है, जो हमेशा सिस्टम से लड़ता आया है, सही को सही और गलत को बेबाकी से गलत कहता हो।क्षेत्र के  विधायक को ,सांसद को और राजनीतिक दलों को जिस कार्य को करना चाहिए उसे उपेन्द्र कुमार सिंह ने कर दिखाया ।उनका यह कार्य उन नेताओं और राजनीतिक दलों के चम्मचों के गाल पर तमाचा है जो चंडी में विकास की बात करते हैं ।

सामाजिक और आरटीआई एक्टिविस्ट उपेन्द्र कुमार सिंह
सामाजिक और आरटीआई एक्टिविस्ट उपेन्द्र कुमार सिंह

एक सामाजिक और आरटीआई एक्टिविस्ट ने वह कर दिखाया जो नालंदा के चंडी प्रखंड में पिछले तीन दशकों में किसी ने नहीं किया है । उन्होंने अपने सूचना के अधिकार का उपयोग  करते हुए चंडी रेफरल जो फाइलो में दबी थी उसका पर्दाफाश किया है । उनके द्वारा मांगी गई सूचना से खुलासा हुआ कि जिस रेफरल अस्पताल को चंडी की जनता भूल चूँकि थी वह तो 16 साल पहले ही रेफरल अस्पताल का दर्जा प्राप्त कर चुका है। राजनीतिक उपेक्षा और क्षेत्रीय विधायक की उदासीनता से यह मामला राज्य सरकार और स्वास्थ्य विभाग के फाइलो में दम तोड रहा था ।

इससे पहले भी उपेन्द्र प्रसाद सिंह ने मनरेगा, मिड डे मिल,जनवितरण प्रणाली सहित चंडी के कई विभागों में व्याप्त भ्रष्टाचार और पदाधिकारियों के कार्यशैली को आरटीआई के माध्यम से उजागर कर पदाधिकारियों की चूले तक हिला कर रख दी है ।

आरटीआइ कार्यकर्ता उपेन्द्र प्रसाद सिंह के द्वारा मरणासन्न  चंडी रेफरल अस्पताल को जीवित करने पर चंडी के लोगों ने उन्हें बधाई दी है । उन्हीं के प्रयास से चंडी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की जगह रेफरल अस्पताल का बोर्ड लगा । जिससे लोगों को पता चला कि रेफरल अस्पताल अपने अस्तित्व में आ गया है । वही अब उपेन्द्र प्रसाद सिंह विलोपित चंडी विधानसभा को लेकर एक लड़ाई लड़ने की तैयारी कर रहे हैं ।

Share Button

Relate Newss:

नालंदा लोशिनिप संजीव सिन्हा ने कहाः रेकर्ड सुरक्षित होगें, अगली तिथि जल्द, न्याय होगा
भूतों के मेला के नाम पर महिलाओं पर खुला अत्याचार, नीतिश सरकार मूकदर्शक
नहीं भुलाए जा सकते महापुरुष कलाम के ये 10 अनमोल बचन
200 सीटें जीतने का दावे के साथ बेफिक्र है महागठबंधन
पहले डॉक्टर ने लूटा, फिर भगताईन ने ली एक विधवा आदिवासी की बिटिया की जान
सीएम रघुबर दास ने आरोपी अभियंता संग डाली गलबहियां !
रांची के ऐसे पत्रकार संगठन के अध्यक्ष और अखबार के संपादक पर मुझे शर्म है
हाई कोर्ट के बीफ बैन के खिलाफ सड़क पर कश्मीर, फहराए पाक झंडे
बीडीओ के इस अमानवीय कुकृत्य के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करे सरकार
सितंबर-अक्तूबर के महीने में होंगे बिहार विधानसभा चुनाव
District Administration, Nalanda पर सबिता देवी के मामला का सच
सनसनी मचा रखी है पूर्व मंत्री व जदयू विधायक की यह वीडियो
पीएम मोदी के नाम लालू का खुला पत्र- 'चेतें अथवा अपना कुनबा समेटें'
सपा विधायक लक्ष्मी गौतम और पति के बीच सरेआम मारपीट !
पीएम को विज्ञापन बनाने वाले जिओ पर महज 500 जुर्माना !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...