इस मीडिया गैंग की नई करतूत, प्रशासन को कर रहे यूं बदनाम

Share Button

“कुर्सियां खाली साफ नजर आ रही है, लेकिन खाली कुर्सी पर मीडिया गैंग के ऐसे लोग चैनल की आईडी रख जिला प्रशासन को बदनाम करने की नियत से जमीन पर बैठ फोटो खिंचवाने के बाद उसे वायरल कर रहा है…..”

राजनामा.कॉम। गौर से देखिए इस तस्वीर को..यह तस्वीर अभी जमशेदपुर एवं आसपास के सोशल मीडिया में खूब वायरल हो रहे हैं। यह तस्वीर 24 जनवरी की है, जिस दिन जमशेदपुर से लगभग 75 किलोमीटर दूर धालभूमगढ़ एयरपोर्ट शिलान्यास कार्यक्रम हुआ।

वैसे तो जिला प्रशासन की ओर से बेहतरीन इंतजाम किए गए थे, लेकिन खुद को हमेशा भीड़ से अलग समझने वाले एक मीडिया गैंग ने ऐसा कारनामा किया, जिससे जिला प्रशासन की सारी व्यवस्थाएं बौनी साबित हो गई।

जिला प्रशासन की ओर से उक्त कार्यक्रम का कवरेज के लिए मीडिया कर्मियों के लिए पर्याप्त सुविधाएं उपलब्ध कराई गई थी। सबसे अगली पंक्ति में वीआईपी के बैठने के प्रबंध किए गए थे।

उसके ठीक पीछे वाली पंक्ति में मीडिया कर्मियों के लिए पर्याप्त सीट जिला प्रशासन ने मुहैया कराया था, लेकिन अपनी ओछी हरकतों के लिए बदनाम हो चुका इस मीडिया गैंग ने फिर से ऐसी हरकत कर दी, जिससे पूरी पत्रकारिता फिर से शर्मसार होती नजर आ रही है।

डायस (स्टेज) के ठीक सामने वीआईपी गैलरी के पास इस गैंग के रिपोर्टरों ने जमीन पर बैठकर न्यूज़ कवरेज करने का ढोंग रचा और उसे सोशल मीडिया में यह कहकर वायरल किया कि उक्त कार्यक्रम में मीडिया कर्मियों को डीपीआरओ की ओर से सुविधाएं मुहैया नहीं कराई गई थी, जबकि लगभग 2 दर्जन से ज्यादा मीडियाकर्मी उक्त कार्यक्रम में बड़े ही आराम से कवरेज करते नजर आए।

वैसे इस गैंग में और भी खिलाड़ी है, जो इन्हें ऐसा करने के लिए प्रेरित कर रहे हैं। जिला प्रशासन को ऐसे गिरोह के करतूतों पर पैनी निगाह रखनी चाहिए। हालांकि जिला प्रशासन की छूट का परिणाम है कि आज ऐसे मीडिया गैंग अपना फन फैलाकर जिला प्रशासन के लिए ही सिरदर्द बनते जा रहे है।

जिला प्रशासन के अच्छे कार्यों में भी ऐसे गिरोह कुछ ना कुछ मीन- मेख निकाल लेते हैं और उसे दुष्प्रचार का एक माध्यम बना डालते हैं। इस तस्वीर में और सच्चाई में काफी अंतर है।

बहरहाल, सोशल मीडिया पर इस तरह की तस्वीर पोस्ट करने वाले पर जिला प्रशासन गंभीरता पूर्वक कार्रवाई करनी चाहिए। इस तस्वीर को वायरल करने में गिरोह का सरगना बेहद ही चतुराई से काम ले रहा है।

Share Button

Related Post

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.