इस तरह के भूल से क्यों नहीं बच पा रहा है दैनिक भास्कर   

Share Button

jinda ko jalayaजरा देखिएः हत्या बेलसर ओपी प्रभारी की हुई और लालगंज के जिन्दा थानेदार को मार डाला !

भारत देश का सबसे विश्वसनीय और नंबर-1 होने का दावा करने वाला ‘दैनिक भास्कर’ के पटना संस्करण ने पाठकों को अचंभित कर देने वाली एक खबर छापी है।

19 नवम्बर को प्रकाशित यह खबर भास्कर के पहले पन्ने पर सेकेंड लीड खबर है। बुधवार को वैशाली के लालगंज में उपद्रवियों के हमले में बेलसर के ओपी प्रभारी अजीत कुमार की हत्या कर दी गई थी।

 लेकिन ‘दैनिक भास्कर’ ने गुरुवार को अपने प्रकाशित खबर में जो हेडिंग लगाई है, वह कम चौंकाने वाला नहीं है।

अखबार में प्रकाशित खबर का हेडिंग है- ‘लालगंज के थानाध्यक्ष को उग्र भीड़ ने पीट-पीटकर मार डाला।’

यह खबर अखबार की विश्वसनीयता पर सवाल खड़ा करने वाला है।

गौरतलब है कि फिलवक्त लालगंज के थानाध्यक्ष सुमन कुमार हैं जो सही सलामत हैं लेकिन देश का सबसे विश्वसनीय और नंबर-1 होने का दावा करने वाले इस अखबार ने एक जिन्दा थानेदार को मृत घोषित कर दिया।

लालगंज के थानाध्यक्ष सुमन कुमार को जानने वाले व उनके परचितों ने जब इस अखबार को पढ़ा तो सभी विचलित हो गए।

ऐसे विचलितों के फोन से लालगंज के थाना पुलिस इंचार्य सुमन कुमार का परेशान होना लाजमि हैं।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...