इलाहाबाद में वकील की मौत के बाद हालात बेकाबू

Share Button

इलाहाबाद जिला अदालत परिसर में एक मुकदमे की पैरवी में कचहरी आए नारीबारी चौकी इंचार्ज दारोगा शैलेंद्र सिंह पर वकीलों ने हमला बोल दिया।  जान बचाने के लिए अपनी सर्विस रिवाल्वर से फायरिंग कर दी, जिसमें एक वकील की मौत और एक अन्य वकील घायल हो गया।

police_advocateवहीं, वकीलों ने भी गोली चलाई जिससे एक सिपाही गंभीर रूप से घायल हो गया, लेकिन पुलिस के अनुसार वह सिपाही अभी जिंदा है।

पुलिस के अनुसार नारीबारी चौकी इंचार्ज शैलेंद्र सिंह एक मुकदमे की पैरवी में कचहरी पहुंचे। मल्टीस्टोरी बिल्डिंग की सीढ़ियां चढ़ते समय कुछ वकीलों ने उन्हें घेर लिया और एक मुकदमे में एफआर लगाने का दबाव बनाने लगे। दरोगा ने विरोध किया तो विवाद बढ़ गया और वकीलों ने उनको पीटना शुरू कर दिया।

वकीलों ने सीढ़ियों से धक्का देने की कोशिश की जिस पर शैलेंद्र ने अपनी सर्विस रिवाल्वर से फायर कर दिया। फायरिंग में दो वकीलों को गोली लगी, जिसमें नवी अहमद की मौके पर ही मौत हो गई। जबकि आरिफ नाम का वकील घायल हो गया।

इसके बाद विरोध में वकीलों ने बवाल शुरू कर दिया। दोनों ओर से जमकर फायरिंग हो रही है। एक सिपाही को भी गोली लगी है।

गोली चलने से मची भगदड़ में कई लोग जख्मी हो गए। वकीलों ने कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया।

police_court_advoहालात अब भी बेकाबू हैं। दूसरी ओर इस घटना के बाद हाईकोर्ट के वकील भी सड़क पर आ गए और उन्होंने भी आगजनी पथराव शुरू कर दिया है। कई कारों को आग लगा दी गई है।

कौशाम्बी, इलाहाबाद के गंगापार और यमुनापार में भी वकीलों ने बवाल शुरू कर दिया है। हाईकोर्ट के सामने अब तक चार वाहन जलाए जा चुके हैं।

अधिवक्ताओं ने चीफ स्टैंडिंग काउंसिल की गाड़ी भी तोड़ दी है। कचहरी में मची भगदड़ में स्कूली बच्चों के भी घायल होने की सूचना है।

वकीलों ने एक सिपाही की राइफल छीनकर उसे ही गोली मार दी। हाईकोर्ट में वकीलों ने सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मियों को बंधक बना लिया और मौके पर पहुंची आरएएफ को खदेड़ दिया। वकीलों ने आग बुझाने पहुंची दमकल की गाड़ी भी फूंक डाली।

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *