आदिवासियों की हत्या करवा रही है रमण सरकार

Share Button

raman_singhआदिवासियों की ज़मीनों को छीन कर बड़े उद्योगपतियों को देने के लिए छत्तीसगढ़ की भाजपा सरकार आदिवासियों को डराने के लिए आदिवासियों की हत्या करवा रही है।

आदिवासी महिलाओं से पुलिस भेज कर बलात्कार करवा रही है। निर्दोष युवकों को फर्ज़ी मुकदमे बना कर जेलों में ठूंस रही है।

chattisgarh_adiwasiइन सब सरकारी क्रूरता के विरुद्ध आदिवासियों ने सत्याग्रह शुरू किया है। एक सप्ताह से चल रहे धरने को तोंगपाल से सुकमा जिला मुख्यालय में ले जाने का निर्णय लिया गया।  साठ किलोमीटर लंबा सफर पैदल ही करने का निर्णय लिया गया।

कल रात दस हज़ार से ज़्यादा आदिवासी महिलायें बुज़ुर्ग बच्चे तीस किलोमीटर पैदल चल कर कूकानार गाँव के पास रात को जंगल में सोये।

chattisgarhआज सुबह आदिवासियों का मार्च फिर से शुरू हुआ है। इस पूरे अहिंसक संघर्ष में सोनी सोरी आदिवासियों के साथ है। आदिवासियों के इस अहिंसक संघर्ष से घबराई हुई भाजपा सरकार धमकियों पर उतर आयी है।

पुलिस अधिकारियों ने आदिवासियों को धमकी दी है कि अगर तुम आदिवासी लोग यह रैली करोगे तो पुलिस तुम्हारे गांव में आकर आदिवासियों के पूरे गाँव को जला देगी।

….अपने फेसबुक वाल पर वरिष्ठ पत्रकार अखिलेश अखिल

Share Button

Relate Newss:

सीएम नीतिश को मुंह चिढ़ाता जैविक उर्वरक संयंत्र का यह शिलापट्ट
झारखंड में JJA की आवाज- नीतीश होश में आओ, पत्रकारों का दमन स्वीकार्य नहीं
नीतिश सरकार के विभागों का बंटबारा, तेजस्वी बने डिप्टी सीएम
प्रबंधन के निर्देश पर दैनिक जागरण के सारे संपादक भूमिगत!
पनामा पेपर्स का खुलासा करने वाली पत्रकार की कार बम ब्लास्ट में मौत
यहां आंचलिक पत्रकारिता और चुनौतियां विषयक कार्यशाला में उभरे ये सच
‘दुर्ग’ को जमानत, लेकिन ST-SC कोर्ट में यूं दिखा सुशासन का दोहरा चरित्र
चमरा लिंडा की गिरफ्तारी में झलकी तानाशाही मानसिकता
मजीठिया से हार दैनिक भास्कर रात अंधेरे हुई दिल्ली से फरार
जरुरी है PCI की वित्‍तीय एवं वैधानिक शक्तियों में बढ़ोतरी :न्‍यायमूर्ति सीके प्रसाद
संदर्भ नालंदा गैंगरेप: पुलिस, न्याय, खानापूर्ति और खामोशी!
आरक्षित वर्गो के गले की हड्डी ना बन जाये यह निर्णय
भागलपुर जिले में खुला देश का पहला गरुड़ संरक्षण केन्द्र
देखिये, मीडिया प्रचार खरीदने पर 1100 करोड़ रुपये कैसे फूंक डाले हमारे पीएम मोदी साहब
जर्नलिस्ट रवीश कुमार को मिला 'रैमॉन मैगसेसे' अवार्ड’2019

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...