आजसू ने जारी किया ‘युवा विजन डॉक्यूमेंट्सट’

Share Button

sudesh

आजसू पार्टी के अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने कहा है कि सबसे सस्ता मजदूर देने वाले स्टेट के रूप में झारखंड की पहचान होना, बेहद दुखद है। वहीं शिक्षा के लिए भी यहां के बच्चे दूसरे राज्यों में जाने को विवश हैं।

उनकी पार्टी चाहती है कि हमारे लोग मुंबई व गुजरात के पीछे नहीं, बल्कि पूरा देश झारखंड के पीछे भागे। यहां के छात्र यहीं पर उच्च व तकनीकी शिक्षा पाएं। वे रविवार को होटल बीएन आर चाणक्या में आयोजित पार्टी के युवा कॉनक्लेव में बोल रहे थे। मौके पर केंद्रीय प्रवक्ता डॉ. हेमलता एस मोहन ने युवा विजन डॉक्यूमेंट्स प्रस्तुत किया।

सुदेश ने कहा कि यहां के पर्व करमा-सरहुल को हम इंटरनेशनल कॉर्निवल के रूप में प्रस्तुत करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि राजमहल की जड़ी-बूटियों से बाहर में मेडिसीन बनाकर झारखंड में ऊंचे दाम में बिकती हैं। जबकि जरूरत यहीं इसके प्लांट लगाने की है। वे चाहते हैं कि हर गांव-घर से महेंद्र सिंह धोनी व दीपिका जैसे खिलाड़ी पैदा हों। युवा विजन डॉक्यूमेंट्स में तीन लाख युवाओं को रोजगार देने की बातें कही गई है।

कार्यक्रम में डॉ. सुरेंद्र सिंह, बीके चांद आदि ने भी विचार रखे। समारोह में विधायक उमाकांत रजक, नवीन जायसवाल, हसन अंसारी सहित कई पार्टी नेता व पदाधिकारी उपस्थित थे।

आजसू की विजन डॉक्यूमेंट की खास बातें

5-35 वर्ष तक के नागरिकों में शत-प्रतिशत साक्षरता हासिल करना।

सभी संकायों के लिए विश्वस्तरीय संस्थान की स्थापना।

रोजगार उन्मुखी कौशल प्रशिक्षण।

ललित कला एवं खेल अकादमी की स्थापना।

हर पंचायत में प्राथमिक, उच्च शिक्षा व मॉडर्न उच्च विद्यालय।

हर प्रखंड में डिग्री, तो हर जिले में स्पोर्टस कॉलेज।

इंजीनयिरिंग कॉलेजों में 6015 सीटों को बढ़ाकर 12000 करना।

प्रत्येक जिले में कंप्यूटर विज्ञान, रूरल मैनेजमेंट और बिजनेस मैनेजमेंट संस्थान।

प्रत्येक प्रमंडल में कृषि, पशुपालन तथा वानिकी कॉलेज की स्थापना।

जेएनयू मॉडल पर शोध व विकास कार्य के लिए पीजी स्तरीय संस्थान की स्थापना।

झारखंड को ओलंपिक खेलों के मानचित्र में लाना।

अंतर महाविद्यालय व विश्वविद्यालय युवा महोत्सव का आयोजन।

प्रत्येक पंचायत में खेल के मैदान एवं स्टेडियम का निर्माण।

जनजातीय महिलाएं को वन उत्पाद प्रसंस्करण पर विशेष कौशल प्रशिक्षण व रोजगार सृजन।

नौकरी एवं सरकारी कॉन्ट्रेक्ट में स्थानीय को प्रमाण पत्रों को मान्यता।

कृषि व पशुपालन को बढ़ावा।

झारखंड को पयर्टन स्थल के रूप में अंतरराष्‍ट्रीय पटल पर लाना।

एक लाख सरकारी रिक्तियां में भर्ती।

स्थानीय युवाओं के लिए स्पेशल डिस्ट्रीक लेवल फोर्स की व्यवस्था।

धनबाद, बोकारो, रांची व जमशेदपुर के बीच विशेष ।औद्योगिक कॉरिडोर का सृजन।

प्रत्येक वर्ष तीन लाख तक नए रोजगार का सृजन।

दूसरे राज्यों के प्रमुख शहरों में श्रम दूतावास की स्थापना।

प्रत्येक जिले में विधि महाविद्यालय।

  ……….. आजसू पार्टी फेसबुक ग्रुप से साभार सूचना

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...