अस्मत की कीमत पर नहीं चाहिए तरक्की

Share Button

यौन दुर्व्यवहार के आक्रमण की शिकार उत्तर प्रदेश पुलिस में थानेदार अरुणा राय से जब पूछा गया कि डीआईजी डी पी श्रीवास्तव द्वारा किये गए दुर्व्यवहार के बाद आवाज़ उठाने पर मिल रही धमकियों और प्रमोशन रुकने, नौकरी चले जाने जैसे खतरे और परिणाम झेल पाओगे.?  तो अरुणा राय ने एक वाक्य में अपनी बात कह दी कि  “नहीं चाहिए उसे कोई तरक्की..”

उन्हें अपने भविष्य के ऊपर मंडरा रहे खतरे की असल में चिंता नहीं है, उन्हें सिर्फ और सिर्फ इंसाफ की इस लडाई में जीत मुकम्मल करनी है. फ़िलहाल इनके लिए इंसाफ सर्वोपरि है.

aruna-raiगौरतलब है कि अरुणा राय ने डीआईजी डी पी श्रीवास्तव पर बलपूर्वक यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाया है. राय के अनुसार डीआईजी डी पी श्रीवास्तव ने उनके साथ शारीरिक, मौखिक दुर्व्यवहार के साथ कार्यस्थल पर मानसिक रूप से भी प्रताड़ित किया है और अब आरोप लगाये जाने के बाद धमकियाँ दे रहे हैं.

राय ने ये भी आरोप लगाया कि महकमा डीआईजी डी पी श्रीवास्तव को बचाने के लिए पूरी तरह क्रियाशील हो चुका है और उनके आरोपों के अनुसार धाराएं न लगा कर महज खानापूर्ति की धाराएं लगा कर पल्ला झाड़ने की कोशिश में है.

इस सिलसिले में अरुणा राय ने दिनांक 23 अप्रैल 2014 और उसके बाद किये गए दुर्व्यवहार के बारे में 31 मई को महिला थाना मेरठ में ऍफ़ आई आर दर्ज करायी है.

इस केस में सबसे महत्वपूर्ण बात जो अब तक सामने आई वो है महकमे के साथ साथ महिला आयोग का सुस्त रवैया. इस मामले में महकमे ने तो लीपा पोती की पूरी कोशिश की है साथ ही महिला आयोग और अन्य महिला उत्थान की संस्थाएं भी चुप हैं.

सुश्री अरुणा राय ने पदाधिकारियों की भूमिका पर सवाल उठाते हुए कहा कि अगर विभाग के भीतर ही इतनी असुरक्षा है तो बाहर की महिलाएं कितनी सुरक्षित होंगी इसकी कल्पना आराम से की जा सकती है.

अरुणा राय की मुख्य मांग इस प्रकार हैं :

1. प्रकरण में उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर तत्काल विवेचना की जाये जिसे सुश्री अलंकृता या किसी अन्य महिला आईपीएस अधिकारी की देख रेख में संपन्न किया जाये.

2. पर्यवेक्षण कार्य सुश्री सुतापा सान्याल की देख रेख में हो.

3. गलत विवेचना करने के लिए और अपराधिक धाराएं जानबूझ कर हटाने के लिए वर्तमान विवेचनाधिकारी पर कार्यवाही की जाये।

इस मामले में सुश्री राय ने बतौर सबूत एक स्टिंग विडियो भी प्रस्तुत किया है जिसमें डीआईजी डी पी श्रीवास्तव लगातार अपने किये पर पछताते हुए और माफ़ी मांगते हुए इस लिंक पर देखे जा सकते हैं-   https://www.youtube.com/watch?v=iPkKGv6oICw

…………नितीश के सिंह

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.