अरुण जेटली पर लगे आरोपों से अंदर तक आहत हैं इंडिया टीवी के रजत शर्मा !

Share Button

rajat jetly

इंडिया टीवी के चेयरमेन और एडिटर-इन-चीफ यूं तो स्टूडेंट लाइफ से एक दूसरे को जानते हैं, दोनों साथ-साथ दिल्ली यूनीवर्सिटी में एबीवीपी के लिए काम किया करते थे। एक बार जेटली डीयू स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट और रजत शर्मा सेक्रेट्री भी चुने गए थे।

लेकिन अचानक से रजत शर्मा का जेटली के लिए कोर्ट में आकर गवाही देना सबको चौंका गया।

दरअसल मंगलवार को अरुण जेटली को पटियाला हाउस कोर्ट में अपने स्टेटमेंट रिकॉर्ड करने के लिए आना था, केस था केजरीवाल और पांच अन्य आप नेताओं के खिलाफ डीडीसीए मामले में आपराधिक अवमानना का।

जेटली ने हर्जाने के तौर पर दस करोड़ रुपयों की मांग की है। तीन बजे जेटली आरती मेहरा, विजेन्द्र गुप्ता जैसे तमाम बीजेपी नेताओं के साथ कोर्ट पहुंचे, साथ ही पहुंचे इंडिया टीवी के चेयरमेन रजत शर्मा।

पहले जेटली ने अपना बयान रिकॉर्ड करवाया और डीडीसीए घोटाले में अपना नाम घसीटने को आप की साजिश बताया और खुद को बेकुसूर बताया।

उसके बाद बारी आई रजत शर्मा की, जो इस केस में जेटली की तरफ से विटनेस हैं, हालांकि जेटली के विटनेसों में एक और पत्रकार स्वप्न दास गुप्ता भी शामिल हैं।

रजत शर्मा ने कोर्ट को बताया कि पिछले चार दशक से वो जेटली को जानते हैं और बहुत ही बेदाग छवि के रहे हैं जेटली। उन पर लगे ऐसे आरोपों से वो अंदर तक आहत हैं।

कोर्ट ने बाकी के गवाहों के स्टेटमेंट्स रिकॉर्ड करने के लिए 3 फरवरी की तारीख तय कर दी है।

जो भी हो चालीस साल पुराने दोस्तों की पूरी मीडिया में चर्चा थी कि कैसे आज एक सूचना प्रसारण मंत्री है और दूसरा अक्सर नंबर एक पर आने वाले हिंदी न्यूज चैनल का सुप्रीमो।

Share Button

Relate Newss:

सावधान यारों देश मेरा सोता हैं
दैनिक हिन्दुस्तान ने किसान का करा दिया हवा में पोस्टमार्टम!
क्या कहेंगे अपने राजनेताओं के इस अल्प ज्ञान को !
IAS एसोसिएशन के खिलाफ पटना हाई कोर्ट में जनहित याचिका
प्रेम प्रसंग में हत्या के बाद उपद्रवियों का तांडव
मोदी जी को बेटा नहीं है तो इसमें मैं क्या करुं :हेमंत सोरेन
दैनिक हिंदुस्तान के पाकुड़ ब्यूरो चीफ पर एफआईआर, अखबार भी हटाया
पत्रकारिता-समाज सेवा सीखनी हो तो मुजफ्फरपुर में आनंद दत्ता से सीखिए !
चहेते ही बना रहे हैं हरियाणा की 'खट्टर सरकार' को खट्टारा !
आदिवासियों को आदिवासी ही रहने दें रघुवर जी
गुजराती मोदी को बिहारी मोदी पर नहीं है भरोसा ?
खबर के बाद हरकत, मलमास मेला मोबाईल एप्प से अवैध जानकारी हटाने में जुटा प्रशासन
हाय री नालंदा की मीडिया, भ्रष्ट्राचार के विस्फोटक न्यूज को यूं पचा गये!
क्या पोर्न इंडस्ट्री से आई हैं कैटरीना कैफ ?
महिला पत्रकार की अतरंग वीडियो वायरल करने वाले 27 पत्रकारों पर पुलिस की गाज

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...