अरुण जेटली पर लगे आरोपों से अंदर तक आहत हैं इंडिया टीवी के रजत शर्मा !

Share Button

rajat jetly

इंडिया टीवी के चेयरमेन और एडिटर-इन-चीफ यूं तो स्टूडेंट लाइफ से एक दूसरे को जानते हैं, दोनों साथ-साथ दिल्ली यूनीवर्सिटी में एबीवीपी के लिए काम किया करते थे। एक बार जेटली डीयू स्टूडेंट यूनियन के प्रेसीडेंट और रजत शर्मा सेक्रेट्री भी चुने गए थे।

लेकिन अचानक से रजत शर्मा का जेटली के लिए कोर्ट में आकर गवाही देना सबको चौंका गया।

दरअसल मंगलवार को अरुण जेटली को पटियाला हाउस कोर्ट में अपने स्टेटमेंट रिकॉर्ड करने के लिए आना था, केस था केजरीवाल और पांच अन्य आप नेताओं के खिलाफ डीडीसीए मामले में आपराधिक अवमानना का।

जेटली ने हर्जाने के तौर पर दस करोड़ रुपयों की मांग की है। तीन बजे जेटली आरती मेहरा, विजेन्द्र गुप्ता जैसे तमाम बीजेपी नेताओं के साथ कोर्ट पहुंचे, साथ ही पहुंचे इंडिया टीवी के चेयरमेन रजत शर्मा।

पहले जेटली ने अपना बयान रिकॉर्ड करवाया और डीडीसीए घोटाले में अपना नाम घसीटने को आप की साजिश बताया और खुद को बेकुसूर बताया।

उसके बाद बारी आई रजत शर्मा की, जो इस केस में जेटली की तरफ से विटनेस हैं, हालांकि जेटली के विटनेसों में एक और पत्रकार स्वप्न दास गुप्ता भी शामिल हैं।

रजत शर्मा ने कोर्ट को बताया कि पिछले चार दशक से वो जेटली को जानते हैं और बहुत ही बेदाग छवि के रहे हैं जेटली। उन पर लगे ऐसे आरोपों से वो अंदर तक आहत हैं।

कोर्ट ने बाकी के गवाहों के स्टेटमेंट्स रिकॉर्ड करने के लिए 3 फरवरी की तारीख तय कर दी है।

जो भी हो चालीस साल पुराने दोस्तों की पूरी मीडिया में चर्चा थी कि कैसे आज एक सूचना प्रसारण मंत्री है और दूसरा अक्सर नंबर एक पर आने वाले हिंदी न्यूज चैनल का सुप्रीमो।

Share Button

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...