अरविंद को संगठन में बिना योगदान के सचिव बनाना सबसे बड़ी भूल : शहनवाज हसन

Share Button

रांची। झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिशन के अध्यक्ष शहनवाज हसन ने कहा है कि अरविंद प्रताप को संगठन के प्रदेश सचिव पद से पहले ही निष्कासित किया जा चुका है और एक एंकर को न्यूज़ वर्ल्ड चैनल का इंचार्ज के साथ संगठन में बिना किसी योगदान के सचिव बनाना ही उनकी सबसे बड़ी भूल साबित हुयी है।

उन्होंने राजनामा.कॉम के संपादक को भेजे व्हाट्सअप संदेश में लिखा है…..    

[11:20 AM, 2/17/2017] Shahnawaz: आप को जब पता है संगठन से अरविंद प्रताप को निष्कासित किया जा चुका है उसके बाद भी आप प्रदेश सचिव कैसे लिख सकते हैं ? आप स्वतंत्र हैं अपने ओपिनियन के लिये पर जब कोई बात रखी जाये तो दोनों पक्ष की बात सामने आना चाहिये।                        

 [11:34 AM, 2/17/2017] Shahnawaz: आप को क्या यह पता है, अरविंद प्रताप को न्यूज़ वर्ल्ड से कितना वेतन मिल रहा था ? क्या आपको यह पता है वह न्यूज़ वर्ल्ड में काम करते हुये भी आकाशवाणी और अब किशिश न्यूज़ का एंकर भी है ? क्या आप जानते हैं मात्र 6 महीने में एक एंकर को मैंने अपना छोटा भाई मानकर चैनल में पूरी स्वतंत्रा दी थी ? आर्थिक संकट कहाँ नहीं आते हैं, और ऐसे समय में जब संकट हो तो केवल अपना ही स्वार्थ देखा जाये। मैंने उसे स्पष्ट सब कुछ बता दिया था, फिर भी जिस भाषा में उसने मुझ से वार्ता किया, क्या वह पत्रकारों की भाषा हो सकती है ?  एक एंकर को न्यूज़ इंचार्ज बना देना और संगठन में बिना किसी योगदान के उसे सचिव बनाना ही मेरी सबसे बड़ी भूल साबित हुयी।           

 [11:36 AM, 2/17/2017] Shahnawaz: आप जो चाहें लिखें इस से मुझे कोई फर्क नहीं पड़ता, पर आपको दोनों पक्ष की बात सामने रखनी चाहिये थी।सैलरी नहीं देने पर जिस तरह उसने मुझ से बात किया, वह तो आपके पास मौजूद था। भाई आप स्वयं न्याय की लड़ाई लड़ रहे हो और पक्षपात आप करोगे यह आशा तो मुझे आप से कतई नहीं थी। 

[11:38 AM, 2/17/2017] Shahnawaz: संगठन की स्थापना को 3 वर्ष हो गये हैं, अरविंद कुछ महीने पहले ही संगठन से जुड़ा है, आपको JJA के प्रदेश कमिटी की वार्ता भेज रहा हूँ, यदि आप निष्पक्ष पत्रकारिता करते हैं तो यह बातें भी सामने आप लायें।

उपरोक्त संदेश के साथ ही झारखंड जर्नलिस्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष शहनवाज हसन ने कई व्हाटस्अप स्नैपशॉट भी भेजें हैं….

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

One comment

  1. सबसे बड़ी भूल तो शाहनवाज़ को जे•जे•ए• का अध्यक्ष स्वीकार कर पत्रकारों ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *