अब वेब जर्नलिस्टों को भी मिलेगा वेलफेयर स्कीम का लाभ

Share Button

 इस योजना को केंद्र सरकार ने फरवरी 2013 में लागू किया था, लेकिन अब इसमें संशोधन किया गया है…………”

राज़नामा डेस्क।  देश भर के जर्नलिस्टों को केंद्र सरकार ने एक खास ‘तोहफा’ दिया है। दरअसल, सरकार ने ‘पत्रकार वेलफेयर स्कीम’ में संशोधन कर दिया है। इसके बाद अब यह देशभर के सभी जर्नलिस्टों के लिए लागू हो गई है।

इस योजना का लाभ यह है कि यदि किसी पत्रकार का निधन हो जाता है अथवा किसी कारण से वह दिव्यांग हो जाता है तो सरकार की ओर से उस पत्रकार के आश्रितों को पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी। वहीं, इलाज के लिए भी पत्रकार को सरकार पांच लाख रुपए की आर्थिक सहायता देगी।

संशोधन के तहत अब इस योजना में केंद्र या राज्य सरकार से अधिस्वीकृत पत्रकार होने का कोई बंधन नहीं है। वहीं, वेब और टीवी जर्नलिस्टों को भी इस योजना के तहत लाभ मिलेगा।

सभी अखबारों के संपादक, उप संपादक, रिपोर्टर, फोटोग्राफर, कैमरामैन, फोटो पत्रकार, फ्रीलांस जर्नलिस्ट, अंशकालिक संवाददाता और उन पर आश्रित परिजनों को भी इस योजना के दायरे में रखा गया है।

इसका लाभ उन्हीं जर्नलिस्टों को मिलेगा, जिन्होंने कम से कम पांच साल तक पत्रकार के रूप में अपनी सेवाएं दी होंगी।

बता दें कि इस योजना को केंद्र सरकार ने फरवरी 2013 में लागू किया था, लेकिन अब इसमें संशोधन किया गया है। इस योजना की पात्रता के लिए एक समिति भी गठित की गई है।

इस समिति के संरक्षक केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री होंगे। विभाग के सचिव अध्यक्ष होंगे और सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के उप सचिव अथवा निदेशक सदस्य इसके संयोजक होंगे।

यह समिति पीड़ित पत्रकार या फिर उनके परिजनों के आवेदन पर विचार करेगी और उसके बाद आर्थिक सहायता देने का फैसला लेगी।

इस बारे में अधिक जानकारी के लिए महानिदेशक (मीडिया एवं संचार), प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो, ‘ए’ विंग, शास्त्री भवन, नई दिल्ली -110001 से भी संपर्क किया जा सकता है।

इस योजना का लाभ उठाने के लिए पत्रकार अथवा उनके परिजन निर्धारित फॉर्म पर अपने आवेदन दिए गए पते पर भेज सकते हैं।इस फॉर्म का नमूना प्रेस इंफॉर्मेशन ब्यूरो की वेबसाइट www.pib.nic.in  अथवा यहां क्लिक कर प्राप्त किया जा सकता है।

Share Button

Relate Newss:

सिर्फ 'नमो' से उम्मीद !
खुद शीशा का महल खड़ा कर दूसरों के घर पत्थर उछाल रहे हैं मोदी जी !
सिद्धू ने हमारे साथ बड़ा धोखा किया :स्टार इंडिया
तेली के बेटे नरेन्द्र मोदी हैं हमारे सेनापति :सुशील मोदी
महिला ने कुख्यात देवर को बचाने की मंशा से थानेदार के खिलाफ यूं बनवाई सुर्खियां
सियासी सादगी का कोई आठवां अजूबा नहीं हैं केजरीवाल
प्रशासन को ठेंगा दिखा अवैध होटल निर्माण के विस्तार में मस्त है राजगीर का यह कथित जर्नलिस्ट
वर्ष 2006 में ही पकड़ाया था हिन्दुस्तान विज्ञापन घोटाला
अर्नब गोस्वामी पर 500 करोड़ के मानहानि का दावा
एनएजे ने सीएम को लिखा पत्र- पत्रकार को तत्काल रिहा कर नालंदा डीईओ पर हो कड़ी कार्रवाई
नदी में डूबा देने के भय से दफ्तर में दुबके हैं घनश्यामपुर के सीओ!
सड़क हादसा नहीं, श्वेताभ सुमन ने कराया हमला !
लो भाई, देख लो आयना
राजगीर के वरीय पत्रकार राम विलास हुये सम्मानित
देवयानी मामले में राजनयिक गतिरोध को मूर्खतापूर्ण मानता है अमेरिका

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading...
loading...