अफीम पर रोक को लेकर मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में पीआईएल करेगी पंजाब सरकार !

Share Button

पंजाब के डिप्टी सीएम सुखबीर सिंह बादल ने कहा है कि पंजाब सरकार मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में एक पीआईएल दाखिल करेगी, जिसमें राज्य में अफीम की खेती और पड़ोसी राज्यों में अफीम की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की जाएगी। बादल के इस बयान से पंजाब में बीजेपी और अकाली दल के गठबंधन में गांठ पड़ने के आसार नजर आ रहे हैं।

dcm_sukhbir-panjabमध्य प्रदेश में बीजेपी सत्ता में है। यहां के सीएम शिवराज सिंह चौहान और पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल के इससे पहले अच्छे संबंध रहे हैं। लेकिन पंजाब सरकार इन दिनों ड्रग्स को लेकर काफी सख्त हो गई है और मध्य प्रदेश को लेकर वह अपना रुख नरम नहीं करना चाहती है।

पंजाब सरकार ने पंजाब और हरियाणा हाई कोर्ट में जून, 2014 से जुलाई, 2015 के बीच ड्रग अडिक्ट्स के तीन लाख से ज्यादा नए मामले सामने आने की बात कही।

बादल ने कहा, ‘राजस्थान सरकार ने अफीम की खेती पर रोक लगाई है और यह सराहनीय कदम है। अब पंजाब सरकार मध्य प्रदेश हाई कोर्ट में अफीम की खेती पर प्रतिबंध को लेकर अपील करने की योजना बना रही है।’

पंजाब सरकार लगातार यह कहती रही है कि पंजाब के युवाओं में ड्रग अडिक्शन बढ़ रहा है, लेकिन ड्रग्स की जितनी खपत है, उतना तो पंजाब में बनता ही नहीं है।

बादल के मुताबिक हेरोइन पाकिस्तान से आती है, जबकि अफीम राजस्थान और मध्य प्रदेश से। बादल ने कहा, ‘एक ही देश में दो राज्यों के लिए ड्रग्स पर अलग-अलग नियम हो सकते। कुछ राज्यों में अफीम की खेती वैध है तो कुछ में अवैध है। पंजाब ऐसे मादक पदार्थों की खेती के सख्त विरोध में है।’ 53 वर्षीय बादल ने यह बात बठिंडा की अकाल यूनिवर्सिटी के उद्घाटन समारोह में कही।

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने हाल ही में बीजेपी और अकाली दल के बीच किसी भी टकराव की बात से साफ इनकार कर दिया था। 2017 में होने वाले चुनावों को देखते हुए इन बातों को अहम माना जा रहा है, लेकिन पंजाब सरकार के इस कदम ने बीजेपी नेताओं के माथे पर बल ला दिए हैं। ड्रग्स के विरोध को लेकर बादल ने कहा, ‘ड्रग्स के खिलाफ पंजाब अकेले पूरे राष्ट्र की लड़ाई लड़ रहा है।’

Prohibitions on opium in the Madhya Pradesh High Court, the Punjab government will PIL!
Punjab Deputy Chief Minister Sukhbir Singh Badal said that Punjab government in Madhya Pradesh High Court will file a PIL in which poppy cultivation in the state and neighboring states will be seeking to ban the sale of opium. Badal’s statement in Punjab BJP and Akali Dal coalition are unlikely to fall in the lump.

In Madhya Pradesh, the BJP is in power. The Chief Minister Shivraj Singh Chouhan and Punjab Chief Minister Parkash Singh Badal have a good relationship before. But these days, the Punjab government is quite strict about drugs and MP does not want her to soften his stance.

Punjab Punjab and Haryana High Court, in June 2014. July 2015 between the drug Adikts three million new cases called for.

Badal said, “Rajasthan government bans on poppy cultivation and commendable step. Now the Punjab government in Madhya Pradesh High Court to appeal against the ban on poppy cultivation plans. “

The Punjab government has consistently said that the youth of Punjab Drug Addiction is growing, but as consumption of drugs, the more is not made in Punjab.

Badal said heroin comes from Pakistan, while the opium from Rajasthan and Madhya Pradesh. Badal said, “two states for the same drugs in the country can have different rules. Some states have legalized the cultivation of poppy is illegal in some. Punjab is against such strict drug cultivation. ‘ 53-year-old Badal said this at the opening ceremony of the University of Bathinda famine.

Finance Minister Arun Jaitley, BJP and Akali Dal recently denied any conflict between the left. In view of elections in 2017 is believed to be important these things, but the Punjab government’s move brought the BJP leaders are perturbed. Drugs protested against Badal said, “Punjab alone, the nation’s fight against drugs is fighting.”

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...

Related Post

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *