‘अन्ना आंदोलन’ में शामिल होगें मनीष-केजरीवाल

Share Button

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसौदिया मंगलवार को एक बार फिर धरने पर बैठने जा रहे हैं। भूमि अधिग्रहण अध्यादेश के खिलाफ समाजसेवी अन्ना हजारे ने जंतर-मंतर पर जो धरना शुरू किया है, अरविंद और मनीष उसी में शामिल होंगे।

anna_kejriwal_manishअरविंद ने इस आंदोलन में अन्ना को पूरा सहयोग देने का आश्वासन भी दिया है। साथ ही इस अध्यादेश पर दिल्ली सरकार का रुख भी अन्ना के सामने साफ किया है।

अन्ना के दिल्ली पहुंचने के बाद शाम को अरविंद केजरीवाल, मनीष सिसौदिया और आशीष खेतान ने महाराष्ट्र सदन जाकर अन्ना हजारे से मुलाकात की।

अरविंद और मनीष ने सबसे पहले पैर छूकर अन्ना का आशीर्वाद लिया। अन्ना ने भी दिल्ली में आम आदमी पार्टी की ऐतिहासिक जीत के लिए उन्हें बधाई दी। साथ ही उनसे कहा कि अब उनके ऊपर बहुत बड़ी जिम्मेदारी आ गई है, जिसे उन्हें ठीक से निभाना होगा।

करीब आधे घंटे चली मुलाकात के बाद मनीष सिसौदिया ने बताया कि अन्ना के आंदोलन के समर्थन में अरविंद केजरीवाल और वह जंतर-मंतर जाकर धरने पर बैठेंगे।

अभी यह साफ नहीं हुआ है कि अरविंद और मनीष अन्ना हजारे के साथ मंच पर ही बैठेंगे या नीचे आम लोगों और कार्यकर्ताओं के बीच बैठेंगे।

अन्ना पहले ही यह घोषणा कर चुके हैं कि आंदोलन को समर्थन देने वाले सभी लोगों का सहयोग उन्हें स्वीकार्य है, लेकिन वह किसी भी राजनीतिक पार्टी से जुड़े व्यक्ति के साथ मंच साझा नहीं करेंगे।

उधर, आंदोलन की कॉर्डिनेशन कमिटी में शामिल अन्ना की सहयोगी सुनीता गोदारा ने भी साफ कह दिया है कि किसानों के प्रतिनिधियों का मंच पर स्वागत है, लेकिन किसी भी राजनीतिक पार्टी के प्रतिनिधि को स्टेज पर नहीं बैठने दिया जाएगा।

 

Share Button

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Loading...